सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भारत में विश्व गुरु बनने की क्षमता : उपराष्ट्रपति


जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भारत में विश्व गुरु बनने की क्षमता है। देश के पिछड़े इलाकों तक बिजली की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए सौर प्लांट स्थापित होने चाहिए। शनिवार को ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो मार्ट में इलेक्रामा 2018 के उद्घाटन पर उपराष्ट्रपति ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग से पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। सतत विकास के लिए पर्यावरण को सुरक्षित रखना जरूरी है। विश्व के लिए भारत में अक्षय ऊर्जा का बड़ा बाजार है। भारत में दिसंबर तक अक्षय ऊर्जा का उत्पादन 62.846 मेगावॉट हो चुका है। यह देश की कुल ऊर्जा जरूरत का 18.8 फीसद है। उन्होंने कहा कि कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने व जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता कम करने के लिए इलेक्ट्रिक व हाइब्रिड वाहन अगले कुछ वर्षों में आने वाले हैं। इसके लिए सरकार ने नेशनल इलेक्ट्रिसिटी मोबिलिटी मिशन लांच किया है। वर्ष 2020 तक साठ से सत्तर लाख इलेक्ट्रिक व हाइब्रिड वाहन उपलब्ध होंगे। घरेलू उद्योग के लिए बैटरी उत्पादन में अपार संभावनाएं हैं।

Read more at https://www.jagran.com/uttar-pradesh/noida-elecrama-innaugration-17640265.html


Share on FacebookShare on LinkedInTweet about this on TwitterGoogle+